श्रीविश्वनाथ जी से सम्बद्ध निकटस्थ मन्दिर, देवी-देव तथा तीर्थ



श्री काशी विश्वनाथ के दर्शनक्रम में अनेक तीर्थकूपादिकों, देवी, देवताओं तथा स्नान ध्यान का होना कहा गया है। इस दृष्टि से विश्वनाथ जी के अगल-बगल के क्षेत्रों में स्थित इन देव स्थानों-तीर्थों को भी जान लेना चाहिए। प्राचीन ग्रन्थ के अनुसार देवताओं, मन्दिरों का जो क्रम निर्देश था वर्तमान समय में उससे भिन्न हो गया है। क्योंकि अधिकांश मूर्तियों की पुन: स्थापना उनके मूल स्थान से हटकर करनी पड़ी है। तब भी श्रद्धालुओं ने शासन तथा काल की परिस्थितियों के अनुसार अपनी धार्मिकता तथा श्रद्धा को यथासम्भव सुरक्षित रखते हुए देवपूजा आदि का क्रम जारी रखा-

निकटस्थ देव स्थान एवं तीर्थ
S.No निकटस्थ देव स्थान एवं तीर्थ
1 भीमेश्वर
2 विरूपाक्ष
3 महाकाल
4 वीरभद्र (अब लुप्त )
5 निकुम्भ
6 शनैश्चरेश्वर
7 अविमुक्तेश्वर
8 10 देवतागण
9 भवानीशंकर
10 ढुण्ढिराज
11 अप्सरेश्वर
12 गंगेश्वर
13 ज्ञानवापी
14 नन्दिकेश्वर
15 तारकेश्वर
16 महाकालेश्वर
17 दण्डापाणि
18 अविमुक्तेश्वर
19 महेश्वर
20 मोक्षेश्वर
21 पंचविनायक
22 मणिकर्णिका
23 षडंग
24 विशालाक्षी
25 अन्नपूर्णा
26 दशाश्वमेघ
27 विनायकगण
28 भीमशंकर
29 सौभाग्यगौरी
30 श्रृंगारगौरी
31 भवानीगौरी
32 भवानी
33 कृतिवासेश्वर
34 अवधूततीर्थ
35 पशुपतीश्वर