अविमुक्त‍ क्षेत्र

भगवान् शिव के द्वारा कभी भी न छोड़े जाने के कारण वाराणसी क्षेत्र का ही एक नाम अविमुक्त क्षेत्र भी है। मत्य्क्तपुराण के अनुसार-

विमुक्तं न मया यस्मान्मोक्ष्यसे न कदाचन।
महत्क्षेत्रमिदं तस्मादविमुक्तमिति स्मृतम्।।
                        (तीर्थचिन्तामणि पृ 342)

स्क्न्द‍पुराण में भी ऐसा ही अभिप्राय देखने को मिलता है -

न विमुक्तं मया सस्मा‍दविमुक्तमिंद तत:।
क्षेत्रंवाराणसी पुण्यं मुक्तिदं सम्भविष्यिति।।