अर्न्तगृह यात्रा

यह नित्य करनेवाली यात्राऐं हैः अन्तगृहस्य यात्रा वै कर्तव्या प्रतिवासरम्
                                 (का०खं०100/76)

यात्रा प्रारम्भ करने के पूर्व विश्वेश्वर के समीप के पांचों विनायकों तथा विश्वेश्वर का पूजन होता है और मुक्तिमण्डप में यात्रा का संकल्प करके मणिकर्णिका-स्नान से यात्रा प्रारम्भ होती है। मणिकर्णीश्वर से आरम्भ करके पहले पर्वतेश्वर तक ईशान कोण में जाना होता है और फिर वहाँ से लौटकर ललिताघाट, मीरघाट, दशाश्वमेधघाट होते हुए अगस्त्यकुण्डा, जंगमबाडी, कोदई चौकी, ध्रुवेश्वर, गोकर्ण, हड़हा, राजादरवाजा, लखी चौतरा, पशुपतीश्वर, गोमठ, वीरेश्वरघाट, संकटा घाट, अग्नीश्वर घाट, भोंसला-मन्दिर और फिर संकटा घाट पर आकर वशिष्ठ वामदेव में प्रदक्षिण का प्रथम अंग समाप्त होता है। फिर सीमाविनायक से प्रारम्भ होकर कई बार कई प्रकार के मोड़ लेती हुई यात्रा अन्त में विश्वेश्वर के मन्दिर में समाप्त होती है। इस यात्रा में 77 देवस्थानों के दर्शन होते है और उनके नाम तथा क्रम काशीखण्ड में निर्धारित हैं, जिनका पूरा विवरण नीचे दिया गया है।

प्रातः स्नान करके पंचविनायक तथा विश्वेश्वर के पूजन के पश्चात् मुक्तिमण्डप में यात्रा का संकल्प करके मणिकर्णिका में जाकर स्नान करें । तदनन्तर, सिद्धविनायक के दर्शन के बाद निम्नांकित क्रम से देव-दर्शन करें ।


1 मणिकर्णीश्वर मणिकर्णिका घाट के ऊपर, मकान नं० सी०के० 8/12 ।
2 कम्बलेश्वर वहीं पर मकान नं०सी०के०8/14 में कम्बलाश्वतरेश्वर नाम से।
3 अश्वतरेश्वर वहीं पर मकान नं०सी०के०8/14 में कम्बलाश्वतरेश्वर नाम से।
4 वासुकीश्वर संकटाजीं के दक्षिण । मकान नं०सी० के० 7/155 ।
5 पर्वतेश्वर वहीं पर, मकान न० सी० के० 7/50 ।
6 गंगाकेशव ललिताघाट । मकान नं० डी० 2/67 ।
7 ललितादेवी वही पर, मकान नं० डी० 2/67 ।
8 जरासन्धेश्वर मीरघाट। मकान नं० डी० 3/79 ।
9 सोमेश्वर मानमन्दिर घाट । मकान नं० डी० 16/34 के पास।
10 वाराहेश्वर दशाश्वमेध घाट । मकान नं० डी० 17/111 ।
11 ब्रह्मेश्वर बालमुकुन्द का चौहट्टा। मकान नं० डी० 33/66-67 ।
12 अगस्तीश्वर अगस्त्यकुण्डा मुहल्ले में। मकान नं० डी० 36/11 ।
13 कश्यपेश्वर जंगमवाड़ी । मकान नं० डी० 35/77 ।
14 हरिकेशेश्वर वहीं पर, मकान नं० डी० 35/273 ।
15 वैद्यनाथ कोदर्इ चौकी के पास । मकान नं० डी० 50/20 ।
16 ध्रुवेश्वर मिसिरपोखरा मुहल्ले में सनातन धर्म कालेज के पिछवाड़े, कोने पर ।
17 गोकर्णेश्वर कोदई की चौकी मुहल्ले में दयलु की गली में। मकान नं० डी० 50/34 ए के दक्षिण्।
18 हाटकेश्वर पुरानी गुदड़ी में।
19 कोकसेश्वर हड़हा मुहल्ले में। मकान नं० सी० के० 48/45 ।
20 भारभूतेश्वर राजादरवाजा । मकान नं० सी० के० 54/44 के पूर्व ।
21 चित्रगुप्तेश्वर मछरहट्टा में। मकान नं० सी० के० 57/77 ।
22 चित्रघण्टा देवी चौक में चन्दू नाऊ की गली में । मकान नं० सी० के० 23/34 ।
23 पशुपतीश्वर पशुपतीश्वर मुहल्ले में। मकान नं० सी० के० 13/66 ।
24 पितामहेश्वर कश्मीरीमल की हवेली के पीछे शीतला गली में । मकान नं० सी० के० 7/92 ।
25 कलशेश्वर नागरों की ब्रह्मपुरी में । मकान नं० सी० के० 7/106 ।
26 चन्द्रेश्वर सिद्धेश्वरी में । मकान नं० सी० के० 7/124 ।
27 आत्मावीरेश्वर संकटा घाट पर । मकान नं० सी० के० 7/158 ।
28 विद्येश्वर नीमवाली ब्रह्मपुरी में । मकान नं० सी० के० 2/41 ।
29 अग्नीश्वर अग्नीश्वर घाट पर । मकान नं० सी० के० 2/3 ।
30 नागेश्वर भोंसला-मन्दिर के पास। मकान नं० सी० के०1/21से सटे हुए।
31 हरिश्चन्द्रेश्वर संकटा घाट के ऊपर । मकान नं० सी० के० 7/166 ।
32 चिन्तामणिविनायक वहीं पर, वशिष्ठ वामदेव के द्वार पर । मकान नं० सी० के० 7/161।
33 सेनाविनायक वहीं पर, हरिश्चन्द्रेश्वर के सामने दीवार में,गढ़ी में।
34 वशिष्ठ वहीं पर, मकान नं० सी० के० 7/161 ।
35 वामदेव वहीं पर, मकान नं० सी० के० 7/161 ।
36 सीमाविनायक यहीं पर, सेनाविनायक के पास।
37 करूणेश्वर ललिताघाट के ऊपर। मकान नं० सी० के० 34/10 ।
38 विसन्ध्येश्वर यहीं पर, मकान नं० डी० 1/40 ।
39 विशालाक्षीदेवी मीरघाट। मकान नं० डी० 3/85 ।
40 धर्मेश्वर धर्मकूप में । मकान नं० डी० 2/21 ।
41 विश्वबाहुकी देवी वहीं पर, मकान नं० डी० 2/13 ।
42 आशाविनायक मीरघाट हनुमान जी के मन्दिर में। मकान नं० डी० 3/79 ।
43 वृद्धादित्य मीरघाट पर । मकान नं० डी० 3/16 ।
44 चतुर्ववत्रेश्वर सकरकन्द गली में । मकान नं० डी० 7/19 ।
45 ब्राह्मीश्वर वहीं पर , मकान नं० डी० 7/6 ।
46 मनःप्रकामेश्वर साक्षविनायक के पास । मकान नं० डी० 10/50 ।
47 ईशानेश्वर कोतवालपुरा में बाँसफाटक सिनेमा के पीछे गली में। मकान नं० डी० 37/69 ।
48 चण्डीचण्डीश्वर कालिका गली में । मकान नं० डी० 8/27 ।
49 भवानीशंकर अन्नपूर्णा-मन्दिर की बगल के राम-मन्दिर में कालीजी और जगन्नाथजी के बीच में।
50 ढुण्ढिराज प्रसिद्ध ।
51 राजराजेश्वर ढुण्ढिराज गली में । मकान नं० सी० के० 35/33 ।
52 लांगलीश्वर खोवा बाजार में । मकान नं० सी० के० 28/4 ।
53 नकुलीश्वर अक्षयवट में । मकान नं० सी० के० 35/20 ।
54 परान्नेश्वर ढुण्ढिराज गली में दण्डपाणि-मन्दिर के सामने, मकान नं० सी० के० 35/34 में।
55 परद्रव्येश्वर ढुण्ढिराज गली में दण्डपाणि-मन्दिर के सामने, मकान नं० सी० के० 35/34 में।
56 प्रतिग्रहेश्वर ढुण्ढिराज गली में दण्डपाणि-मन्दिर के सामने, मकान नं० सी० के० 35/34 में।
57निष्कलंकेश्वर ढुण्ढिराज गली में दण्डपाणि-मन्दिर के सामने, मकान नं० सी० के० 35/34 में।
58 मार्कण्डेयेश्वर वहीं पर, मकान नं० सी० के० 36/10 ।
59 अप्सरसेश्वर ज्ञानवापी मस्जिद की सीढ़ी के सामने खिड़की में छोटा शिवलिंग।
60 गंगेश्वर लुप्त ।
61 ज्ञानवापी ज्ञानवापी प्रसिद्ध ।
62 नन्दिकेश्वर लुप्त ।
63 तारकेश्वर मन्दिर में ।
64 महाकालेश्वर विश्वनाथजी के मन्दिर में, ।
65 दण्डपाणि वहीं पर, ढुण्ढिराज गली में भी मन्दिर है। मकान नं० सी० के० 36/10 ।
66 महेश्वर ज्ञानवापी के नैऋत्य कोण में, पीपल के नीचे ।
67 मोक्षेश्वर लुप्त ।
68 वीरभद्रेश्वर लुप्त ।
69 अविमुक्तेश्वर विश्वनाथ जी के मन्दिर में।
70-74पंचविनायक ज्ञानवापी के पूर्व की गली में नेपालीखपड़े में चार और ढुण्ढिराज-गली में गणनाथ । मकान नं० सी० के० 31/12, 31/16, 34/60, 35/8, और 37/1 में।
75विश्वेश्वर प्रसिद्ध ।